अखिल भारतीय इतिहास-संकलन योजना
Akhil Bharatiya Itihas Sankalan Yojna

राष्ट्रीय अध्यक्ष


उत्तरप्रदेश के मुजफ्फरनगर जि़लांतर्गत कांधला कस्बे में दिनांक 01 जनवरी, 1938 ई॰ को जन्मे श्री सतीश चन्द्र मित्तल जी ने आगरा विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर (इतिहास), पंजाब विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर (राजनीतिविज्ञान) एवं कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से 'फ्रीडम मूवमेंट इन पंजाब (1905-1929)' शीर्षक शोध-प्रबन्ध पर पीएच॰ डी॰ की उपाधि प्राप्त की। कुछ वर्षों तक आर॰के॰एस॰डी॰ महाविद्यालय (कैथल) में अध्यापन का कार्य किया, तत्पश्चात् कुरुक्षेत्र-विश्वविद्यालय के इतिहास-विभाग में प्राध्यापक के पद से सेवानिवृत्त हुए। इस प्रकार प्रो॰ मित्तल लगभग चार दशकों तक अध्यापन-कार्य से सम्बद्ध रहे हैं।सन् 1997-2003 तक आप 'भारतीय-इतिहास-अनुसंधान-परिषद्'के फेलो रहे तथा 'इण्डियन हिस्टारिकल रिकार्ड्स कमीषन'से भी सम्बद्ध रहे।

सम्प्रति आप अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना के राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष हैं। भारतीय-राष्ट्रीय आन्दोलन, इतिहासशास्त्र एवं प्रादेशिक अध्ययन की विशेषज्ञतावाले प्रो॰ मित्तल ने अंग्रेज़ी में 9 तथा हिंदी में आधुनिक इतिहास पर 25 पुस्तकें लिखी हैं, जबकि अन्य 7 पुस्तकों में आपके लेख अध्याय के रूप में सम्मिलित हैं। आपकी कुछ पुस्तकों का अनुवाद हिंदी, अंग्रेज़ी, कन्नड़ तथा गुजराती में भी हुआ है। आपकी प्रमुख पुस्तकों का विवरण इस प्रकार है :
1- Freedom Movement in Panjab (1905-'29) (1977)
2- Sources on National Movement: Protests, Disturbances and Defiance (January 1919 to September 1920) (1985)
3- Haryana : A Historical Prospective (1986)
4- Selected Annotated Bibliography on Freedom Movement in India : Panjab & Haryana (1992)
5- India Distorted : A Study of British Historions on India (3 Vols.) (1996)
6- Modern India : a textbook for class XII (2003)
7- भारत का सामाजिक-आर्थिक इतिहास
8- विश्व की साम्राज्यवादी साम्यवाद का उत्थान तथा पतन
9- साम्यवाद का सच (2009)
10- भारत के राष्ट्र-चिन्तकों का वैचारिक दर्शन तथा इतिहास-दृष्टि
11- आधुनिक भारतीय-इतिहास की प्रमुख भ्रांतियाँ
12- 1857 का स्वातन्त्र्य समर : एक पुनरावलोकन (हिंदी, कन्नड़ एवं गुजराती)
13- मुस्लिम-शासक तथा भारतीय-जनसमाज (2007)
14- अविस्मरणीय विजयनगर-साम्राज्य एवं महाराजा कृष्णदेवराय (2009)
15- 1857 : वनवासी-नेतृत्व (हिन्दी और अंग्रेज़ी में, क्रमशः 2009 एवं 2010)
16- क्या पंजाब अंग्रेज़ों के प्रति वफ़ादार रहा ? (2007)
17- ब्रिटिश इतिहासकार तथा भारत (2010)
18- कांग्रेस : अंग्रेज-भक्ति से राजसत्ता तक (2011)
19- स्वामी विवेकानन्द की इतिहास-दृष्टि (2012)
20- राष्ट्रीय चैतन्य के प्रकाश में भारत का स्वाधीनता संघर्ष (2012)
21- राष्ट्रीय चैतन्य के प्रकाश में भारत में राष्ट्रीयता : प्रारम्भ से मुस्लिम-काल तक (प्रकाशनाधीन)
इनके अतिरिक्त भी प्रो॰ मित्तल जी की एक दर्जन पुस्तकें प्रकाशित हैं। देश की अनेक प्रतिष्ठित शोध-पत्रिकाओं में आपके अंग्रेज़ी एवं हिंदी में तीन सौ से अधिक शोध-आलेख प्रकाशित हैं। राष्ट्रीय तथा प्रादेशिक इतिहास-गोष्ठियों तथा सेमिनारों में आप अनेक बार अध्यक्ष, गेस्ट आफ़ आनर तथा रिसोर्स-पर्सन के रूप में समादृत रहे हैं।



डा. सतीश चन्द्र मित्तल
6/1277 ए, माधवनगर,
सहारनपुर-247 001 (उ.प्र.)
दूर.: 09319480430] मो.: .: 0132-3205527
ई-मेल : prof.scmittal@gmail.com

 

 

Copyright © www.abisy.org 2015
Developed By: WebGlobex Solutions